Aarzoo Shayari in Hindi Aarzoo Shayari Rekhta Aarzoo Shayari Urdu Aarzoo

Aarzoo Shayari in Hindi Yaha par hum aapke liye Best dil ki arzoo shayari in Hindi ko likh rahe hai, jeene ki aarzoo shayari agar aapko pasand aaye to aap apne friends ke sath Share kare Hum aur bhi isi Tarah ki khwahish shayari Hindi aapke liye banate rahenge, aur bhi isi tarah ki aarzoo love shayari me hum yaha par like rahe hai pasand aaye to share kar dena.

Aarzoo Shayari in Hindi, aarzoo shayari rekhta, aarzoo shayari urdu, aarzoo shayari 2 lines, aarzoo shayari picture, dil ki arzoo shayari, khwahish shayari, jeene ki aarzoo shayari, gham e aarzoo shayari, aarzoo love shayari

Aarzoo Shayari in Hindi

तेरे सीने से लगकर तेरी आरज़ू बन जाऊं,
तेरी साँसों से मिलकर तेरी खुशबू बन जाऊं।

Aarzoo Shayari Rekhta

है आरज़ू थाम लेना हाथ मेरा कभी पीछे जो छूट जाऊँ,
मना लेना मुझे जो कभी तुमसे रूठ जाऊँ।

999 Hindi Lyrics (हिंदी गाने) Read Best Lyrics In Hindi999 Hindi Captions (हिंदी कैप्शन) Read Best Captions In Hindi
Famous Authors Quotes 999 About Friendship, Life, Love999 Hindi Poetry (हिंदी कविता) Read Best Poetry In Hindi
999 Hindi Poem (हिंदी कविता) Read Best Poem In Hindi999 Hindi Paheliyan (हिंदी पहेलियाँ) Read Best Paheliyan In Hindi

aarzoo shayari urdu

कुछ आग आरज़ू की, कुछ उम्मीद का धुआँ,
हाँ राख ही तो ठहरा, अंजाम जिंदगी का।

aarzoo shayari 2 lines

बड़ी आरज़ू थी मोहब्बत को बेनकाब देखने की,
दुपट्टा जो सरका तो जुल्फें दीवार बन गयी।

aarzoo shayari picture

आज खुद को तुझमे डुबोने की आरज़ू है,
क़यामत तक सिर्फ तेरा होने की आरज़ू है,
किसने कहा गले से लगा ले मुझको, मग़र,
तेरी गोद में सर रखकर सोने की आरज़ू है।

dil ki arzoo shayari

सितारों की महफ़िल ने करके इशारा,
कहा अब तो सारा जहाँ है तुम्हारा,
मुहब्बत जवाँ हो, खुला आसमाँ हो,
यही है दिल की आरज़ू और क्या हो।

khwahish shayari

तेरे‬ इश्क का कितना हसीन एहसास है,
लगता है जैसे तू हर ‪पल‬ मेरे पास है,
‪मोहब्बत‬ तेरी दिवानगी बन चुकी है मेरी,
और अब जिन्दगी की ‪आरजू‬ बस तेरे साथ है।

jeene ki aarzoo shayari

कौन पूछता है पिंजरे में बंद पंछियों को,
याद वही आते हैं जो उड़ जाते हैं,
यह आरजू नहीं कि किसी को भुलाएं हम,
न तमन्ना है कि किसी को रुलाएं हम,
जिसको जितना याद करते हैं,
ऐ खुदा उसे भी उतना ही याद आयें हम।

gham e aarzoo shayari

आने लगा हयात को अंजाम का ख्याल,
जब आरजुएं फैलकर इक दाम बन गयीं।

aarzoo love shayari

आपसे मिले न थे तो कोई आरजू न थी,
देखा आपको तो आपके तलबगार हो गये।

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *